पीजीपी प्रवेश प्रक्रिया

पोस्ट ग्रेजुएट इन मैनेजमेंट (पीजीपी) प्रबंधन में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में प्रवेश प्रक्रिया 2018**

यह खंड आईआईएम नागपुर में 2018-2020 परास्नातक प्रबंधन कार्यक्रम (पोस्ट ग्रेजुएट मैनेजमेंट प्रोग्राम) (पीजीपी) बैच के लिए संक्षिप्त सूची में नाम शामिल करने (शार्ट लिस्ट) आैर चयन के मानदंडों का वर्णन करता है। आईआईएम नागपुर को अपने उद्देश्य के अनुरूप चयन प्रक्रिया में बदलाव का अधिकार है। बैच में 60 छात्रों के लिए जगह है। चयन प्रक्रिया शुरू होने से पहले इसमें बदलाव संभव है। ऐसी स्थिति में संशोधित प्रवेश की संख्या के अनुसार उचित परिवर्तन कि जा सकते हैं। आईआईएम नागपुर के प्रवेश प्रक्रिया में उम्मीदवार के पूर्व शैक्षणिक प्रदर्शन (पीएपी) कार्यअनुभव (डब्ल्यूई) सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीएटी), व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) आैर लिखित योग्यता परीक्षा (डब्ल्यूएटी) में प्रदर्शन का ध्यान रखा जाता है.

  स्टेज 1: पात्रता के लिए मानदंड ही पीजीपी में प्रवेश के लिए माना जाएगा

तालिका 1 में दिखाए गए निम्नलिखित कटऑफ का उपयोग पात्र उम्मीदवारों को चुनने के लिए सभी बाद के चरणों के लिए किया जाएगा। इसलिए, सीएटी-2016 स्कोर पहली शॉर्ट-सूची पर पहुंचने के लिए आधार के रूप में उपयोग किए जाने वाले एकल मानदंड है।

तालिका-1 न्यूनतम सीएटी 2017 पर्सेन्टाइल (प्रतिशत)

सीएटी 2017 में संक्षिप्त सूची में शामिल हुए न्यूनतम प्रतिशतक, उपखंड आैर समग्र
श्रेणी सीट की
संख्या(वी)
खंड1
(वीएआरसी)
खंड 2
(डीआईएलआर)
खंड 3
(क्यूए)
समग्र
सामान्य 28 72 72 72 90
एनसी-ओबीसी 16 65 65 65 81
एससी 09 50 50 50 65
एसटी 05 40 40 40 40
डीएपी 02 50 50 50 65

वीएआरसी = मौखिक क्षमता और पढ़ने की समझ, डीआईएलआर = डेटा विश्लेषण और तार्किक तर्क; क्यूए = संख्यात्मक क्षमता;

टिप्पणी – ये कटऑफ प्रवेश प्रस्ताव के लिए नहीं है। उनके अंक इसमे अधिक हो सकते हैं।

  चरण – 2 : साक्षात्कार आैर वीएटी (लिखित क्षमता परीक्षा) के लिए उम्मीदवार का चयन

ऐसे उम्मीदवारों, जिन्होंने आईआईएम नागपुर के पीजीपी के लिए आवेदन किया था आैर तालिका एक में दिए गए संक्षिप्त सूची में आने की शर्त को पूरा करते हैं उन्हें मार्च के तीसरे सप्ताह में संस्थान की आेर से ईमेल भेजा जाएगा। जो उम्मीदवार आईआईएम नागपुर में प्रवेश इच्छुक हैं, उन्हें निर्धारित तारीख के पहले अपनी रूचि की पुष्टि करनी होगी।

चरण -2 के लिए सिर्फ उन्हीं उम्मीदवारों पर विचार किया जाएगा, जिन्होंने कैट 2017 में न्यूनतम प्रतिशतक की आवश्यकता पूरी की हो आैर संस्थान में प्रवेश की पुष्टि की हो।

 - कैट में प्रदर्शन (सीपी) की गणना इस प्रकार की जाती है।

  • सीपी अंक = कैट के कुल अंक/एम*10

  • जहां- एम = आईआईएम नागपुर के चरण 1 को चयन के लिए याेग्य उम्मीदवारों में कैट में प्राप्त अधिकतम अंक

यहां हम उम्मीदवार के 10वीं, 12वीं, स्नातक परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर शैक्षणिक प्रदर्शन का मूल्यांकन करते हैं। प्राप्त अंकों के आधार पर उन्हें ए, बी आैर सी की श्रेणी प्रदान की जाती है। (देखें तालिका -2)

तालिका 2 : बी - पूर्व शैक्षणिक प्रदर्शन (पीएपी)

10वीं कक्षा में प्रतिशत अंक परीक्षा रेटिंग स्कोर ए
<=55 1
> 55 और <= 60 3
> 60 और <= 70 4
> 70 और <= 80 5
> 80 और <= 90 9
>90 10
12 वीं में एक प्रतिशत स्कोर परीक्षा रेटिंग स्कोर बी
<=55 1
> 55 और <= 60 3
> 60 और <= 70 4
> 70 और <= 80 5
> 80 और <= 90 9
>90 10
स्नातक में प्राप्त प्रतिशत अंक रेटिंग स्कोर C
<=55 2
> 55 और <= 60 4
> 60 और <= 65 6
> 65 और <= 70 9
>70 10

उम्मीदवार के लिए पीएपी स्कोर : पीएपी = (0.25* ए + 0.35* बी + 0.40* सी)

सी - कार्यअनुभव (डब्ल्यूई)

कार्य अनुभव में पूर्ण किए माह x (एक्स) (जैसे जुलाई 31, 2017) उम्मीदवार को डब्ल्यूई में इस प्रकार अंक दिए जाएंगे

डब्ल्यूई = 0 अगर x <= 6
डब्ल्यूई = 4 अगर 6 < = x < 18
डब्ल्यूई = 6 अगर 18 < = x < 24
डब्ल्यूई = 8 अगर 24 < = x < 30
डब्ल्यूई = 10 अगर 30 < = x < 36
डब्ल्यूई = 4 अगर x > = 36

डी - विविधता (डीआई)

विविधता में 10 अंकों की गणना उम्मीदवार के लिंग आैर स्नातक की डिग्री के आधार पर की जाएगी। लिंग विविधता के 5 अंक में पुरुष को 0 आैर महिला को 4 आैर तृतीय लिंग को 5 अंक, डिग्री के लिए 5 अंकों की गणना बीए, बीए (आनर्स), बीएसी, बीएसी (आनर्स), बीएम, बीकॉम, बीकॉम (आनर्स), बीसीए, बीबीए, बी फार्मा, एलएलबी, एमबीबीएस, बीडीएस आैर अन्य गैर अभियांत्रिक स्नातक पाठ्यक्रम जिनका यहां जिक्र नहीं है के लिए 5 अंक।

इस चरण में व्यापक अंकों (सीएस) सीपी, पीएपी, डब्ल्यूई आैर डीआई की गणना :

सीएस = 0.35 * (सीपी अंक) + 0.40 * (पीएपी स्कोर) + 0.2 * (डब्ल्यूई अंक) + 0.05 * (डीआई अंक)

सीएस (व्यापक अंक) के आधार पर संक्षिप्त सूची में स्थान पाने वाले उम्मीदवारों को अप्रैल 2018 के प्रथम सप्ताह में आईआईएम नागपुर से ईमेल भेजा जाएगा। उम्मीदवार को विस्तृत आवेदन प्रस्तुत करना होगा, जिसमें सेमेस्टर के अनुसार/वर्ष के अनुसार स्नातक व अन्य की अंक सूची व अन्य, सभी अंक सूचियों की प्रति, कार्यअनुभव का प्रमाणपत्र (अगर लागू हो) विकलांगता प्रमाणपत्र (अगर लागू हो) अनुसूचित जाति/जनजाति/अन्य पिछड़े वर्ग – गैर क्रीमीलेयर प्रमाणपत्र (अगर लागू हो) पेश करना होगा। प्रवेश के लिए केवल उन्हीं उम्मीदवारों पर विचार किया जाएगा, जिन्होंने तय दिनांक तक चयन संबंधी सभी प्रक्रियाआें को पूरा किया। विस्तृत आवेदन जमा किया हो, प्रवेश प्रक्रिया के अगले चरण के लिए योग्य होंगे।

 चरण 3 : उम्मीदवार का अंतिम चयन

प्रवेश प्रक्रिया के अंतिम चरण के लिए उन उम्मीदवारों पर विचार किया जाएगा जिन्हें लिखित योग्यता परीक्षा आैर साक्षात्कार में प्रदर्शन के आधार पर संक्षिप्त सूची में शामिल किया गया है आैर जिन्होंने निर्धारित समय (अप्रैल 2018 के तीसरे सप्ताह के आसपास) विस्तृत आवेदन प्रस्तुत किया हो। इस चरण में व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) लिखित योग्यता परीक्षा (डब्ल्यूएटी) में प्रदर्शन का निम्न प्रक्रार से गणना की जाएगी।

व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) आैर लिखित योग्यता परीक्षा (डब्ल्यूएटी)

ऐसे उम्मीदवार जो किसी एक या अधिक आईआईएम बंगलुरू, कोलकाता, इंदौर, काेझीकोड, लखनऊ में पीजीपी या पीजीपीईएम के लिए संक्षिप्त सूची में शामिल हों, आैर साक्षात्कार दे चुके है, उन्हें इस चरण में शामिल होने की जरूरत नहीं है। उनके अन्य संस्थान का पीआई आैर डब्ल्यूएटी अंक का आईआईएम नागपुर इस तरह उपयोग करेगा।

अगर किसी उम्मीदवार का उपर्युक्त में आईआईएम बंगलुरू, कोलकाता, इंदौर, काेझीकोड, लखनऊ में पीआई/डब्ल्यूएटी कार्यक्रम के लिए चुनाव हुआ था, तो उसका/उसके पीआई/वैट स्कोर का इस्तेमाल आईआईएम नागपुर के पीआई/डब्ल्यूएटी स्कोर के लिए किया जाएगा।

अगर किसी उम्मीदवार का एक ज्यादा संस्थानों में पीआई/डब्ल्यूएटी के आधार पर पीजीपी/पीजीपीईएम के लिए चयन हुआ होगा तो अंकों का आैसत, सबसे कम अंक निकालने के बाद मान्य होगा। ऐसे उम्मीदवार जिनका किसी आईआईएम बंगलुरू, कोलकाता, इंदौर, काेझीकोड, लखनऊ में पीजीपी/पीजीपीईएस कार्यक्रम के लिए) संक्षिप्त सूची में नाम या साक्षात्कार नहीं हुआ है, उन्हे आईआईएम नागपुर द्वारा आयोजित लिखित योग्यता परीक्षा (डब्ल्यूएटी) साक्षात्कार (पीआई) में शामिल होना होगा।

यदि आवश्यक हो तो पूर्व शैक्षणिक प्रदर्शन में सुधार संभव है। यह वास्तविक अंक पत्र/ग्रेड कार्ड प्रस्तुत किए जाने पर अन्यथा परीक्षा के लिए उपस्थित उम्मीदवार के दिए गए शैक्षणिक प्रमाणपत्र के आधार पर विचार कर गणना की जाएगी। इस चरण में उम्मीदवार का अंतिम अंक (एफएश) की गणना इस प्रकार होगी !

एफएस = 0.35 * (पीआई स्कोर) + 0.05 * (डब्ल्यूएटी अंक) + 0.20 * (सीपी स्कोर) + 0.20 * (पीएपी स्कोर) + 0.20 * (डब्ल्यूई अंक)

इस चरण में चयन अंकों के आधार पर होगा। प्रत्येक श्रेणी (सामान्य/एससी/एसटी/एनसी-आेबीसी/डीएजी) के अलग-अलग अभ्यर्थियों के लिए पृथक सूची बनाई जाएगी। विभिन्न श्रेणियों में चयनित अभ्यार्थियां की संख्या कानून के अनुसार होगी। चयनित अभ्यर्थियों को ईमेल से अस्थाई प्रवेश सूचना भेजी जाएगी। प्रस्ताव की स्वीकृति की पुष्टी के लिए अभ्यार्थियों को 50 हजार रुपए स्वीकार्य शुल्क देना होगा। यह ट्यूशन फीस के साथ समायोजित कर दी जाएगी।

प्रवेश रद्दीकरण आैर वापस लेने की प्रक्रिया

प्रवेश का रद्दीकरण या वापसी कई तरह से हो सकती है।

प्रवेश प्रक्रिया में किसी भी चरण में यदि कोई गलत जानकारी प्रदान करता है तो उम्मीदवार का प्रवेश रद्द हो सकता है।

प्रथम कार्यकाल के पंजीकरण के पूर्व-
  1. ईमेल में सूचित निर्धारित तिथि के अनुसार स्वीकार्य शुल्क जमा करवाया जाता है तो अस्थाई प्रवेश जारी रहेगा। अगर निर्धारित आंमत्रण शुल्क जमा नहीं होता है तो अस्थाई प्रवेश रद्द हो जाएगा।
  2. अगर अभ्यार्थी स्वीकृत शुल्क जमा कराने के बावजूद प्रवेश रद्द करवाना चाहता है तो वह प्रवेश कार्यालय को ईमेल से सूचित कर सकता है। इसके बाद हम शुल्क की वापसी की प्रक्रिया शुरू करेंगे। शुल्क की वापसी जुलाई 2018 तक संभव होगी। (भारत सरकार के नियमों के अनुसार 1000 रुपए प्रशासकीय प्रभार घटाकर)
  3. यदि कोई अभ्यार्थी आईआईएम नागपुर में निर्धारित पंजीकरण तिथि व समय तक पंजीकृत नहीं होता है तो प्रवेश रद्द हो जाएगा।
पंजीकरण के बाद

प्रत्येक सत्र के शुरुआत में शुल्क एकत्र किया जाएगा। यदि कोई उम्मीदवार पंजीकरण के बाद किसी भी अवधि में कार्यक्रम छोड़ना चाहता है, उसे तब तक का पूरा शुल्क अदा करना होगा, चाहे सत्र की अवधि में कितने भी दिन शेष रह गए हो।