खबर और घटनाएँ

भा.प्र.सं. नागपुर में महिलाओं के स्टार्ट-अप के लिए के लिए प्रशिक्षण और ऊष्मायन कार्यक्रम

'महिलाओं के स्टार्ट-अप कार्यक्रम'  के लिए भा.प्र.सं. नागपुर का एन.एस.आर.सी..एल. - भा.प्र.सं. बैंगलोर के साथ गठबंधन

दिनाँकः 15 जनवरी, 2018

भा.प्र.सं. नागपुर ने इस साल महिला स्टार्टअप कार्यक्रम के लिए भा.प्र.सं. बैंगलोर के एन एस राघवन उद्यमी शिक्षा केन्द्र (एन.एस.आर.सी.ई.एल.) के साथ भागीदारी की है। गोल्डमैन सैस और विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डी.एस.टी.), भारत सरकार द्वारा वित्त पोषित यह कार्यक्रम महत्वाकांक्षी महिला उद्यमियों पर लक्षित है। कार्यक्रम का उद्देश्य महिलाओं के व्यवसायिक विचारों को व्यापारिक उद्यमों में परिवर्तित करना और प्रतिभागियों को प्रबंधकीय और उद्यमशीलता कौशल में प्रशिक्षण प्रदान करना है। प्रशिक्षण के अंत में, यह कार्यक्रम चयनित व्यापार योजनाओं के लिए सलाह और सुझाव, और अल्प वित्तीय सहायता के साथ ऊष्मायन प्रदान करेगा। वर्ष 2018-19 के लिए, इस कार्यक्रम का उद्देश्य देश भर से 100 महिला उद्यमियों को शामिल करना है। यह कार्यक्रम 2016-17 में भा.प्र.सं. बैंगलोर द्वारा आयोजित किया गया था और एन.एस.आर.सी.ई.एल. में 15 महिला उद्यमियों को शामिल किया गया था। भा.प्र.सं. नागपुर और अन्य साझेदारों की भागीदारी से इस कार्यक्रम को देश के विभिन्न शहरों में फैलाने की उम्मीद है।

हमारे देश में उद्यमी परिदृश्य को देखते हुए इस तरह के कार्यक्रमों की अत्यधिक आवश्यकता है। 2013 से, उभरती हुई ब्रिक्स अर्थव्यवस्थाओं में कामकाजी आबादी में उद्यमियों का अनुपात भारत में सबसे कम है। भारत में महिला आबादी के बीच यह अनुपात अत्यधिक कम था जो 2006 में 9% से गिरकर 2013 में 6% तक कम हो गया। नवंबर 2017 की एक NASSCOM रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय स्टार्टअप में महिला उद्यमियों ने केवल 11% योगदान दिया, और SAHA फंड के आंकड़े बताते हैं कि केवल 3% महिला उद्यमियों को वी.सी. वित्त-पोषण प्राप्त हुआ है। यह कार्यक्रम नागपुर में इच्छुक महिला उद्यमियों की उद्यमशील क्षमता को बढ़ाने में मदद करेगा। 'महिला स्टार्टअप कार्यक्रम' के शुभारंभ पर बोलते हुए, भा.प्र.सं. नागपुर की इस पहल के अध्यक्ष, प्रो थिआगु रंगनाथन ने कहा कि, ' इस कार्यक्रम में भागीदारी के लिए हम स्वयं को बहुत भाग्यशाली मानते हैं और रोमांचित हैं और कार्यक्रम को अपनी पूर्ण क्षमता तक पहुंचने में सहयोग करने की उम्मीद करते हैं '।

कार्यक्रम के लिए पंजीकरण निःशुल्क है। पंजीकृत प्रतिभागी 22 जनवरी से शुरू होने वाले मैसिव ऑनलाइन ओपन कोर्स (एम.ओ.ओ.सी.) में भाग लेंगे जिसके बाद चयनित प्रतिभागियों के लिए दो बूटकैम्प और इनक्यूबेशन कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। अधिक जानकारी और पंजीकरण के लिए कृपया: http://wsp.nsrcel.org/  का अवलोकन करें या श्री शिवाजी एस धावद - ऊष्मायन प्रबंधक - महिला स्टार्टअप प्रोग्राम, भा.प्र.सं. नागपुर, से ईमेल: fso@iimnagpur.ac.in| मोबाइल: + 91-7767014304 पर संपर्क करें।

Back To List

खबर और घटनाएँ