खबर और घटनाएँ

आईआईएम नागपुर में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

आईआईएम नागपुर परिसर में 18 जून 2017 को तीसरे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन पूरे उत्साह के साथ किया गया। कार्यक्रम का आयोजन उम्मीद द कम्यूनिटी आउटरीच क्लब ऑफ आईआईएम नागपुर और अभ्यूदय – द कल्चरल क्लब ऑफ आईआईएम के सहयोग से किया गया। कार्यक्रम में संस्थान के निदेशक, शिक्षक व कर्मचारी उपस्थित रहे। छात्र-छात्राओं ने भी पूरे उत्साह से भाग लिया। कार्यक्रम में आयुष मंत्रालय के निर्देश के अनुसार सभी ने एक साथ सामूहिक योग किया। कार्यक्रम की शुरुआत सौम्या रंजीत ने श्लोक गायन से किया उसके बाद गुरु वंदना की प्रस्तुति हुई। आईआईएम नागपुर के िद्वतीय वर्ष के छात्र मोहनराज पीसी ने योग प्रशिक्षण के रूप में हमारे जीवन में योग के महत्व पर प्रकाश डाला। मोहन योग पर बीए कर चुके हैं। उन्होंने कहा- यह केवल शारीरिक नहीं है बल्कि दाशर्निक व्यायाम भी है, जो मन, शरीर और आत्मा के लिए व्यायाम है। कार्यक्रम में शामिल लोगों ने कई योग व आसनों का अभ्यास किया। इनमें वृक्षाक्षस, व्रजासन, पद्मासन और प्राणायाम शामिल हैं। कार्यक्रम में शामिल लोगों ने इस अनुभव से प्रभावित होते हुए नियमित योग करने का संकल्प लिया। िद्वतीय वर्ष के छात्र समीर ने कहा- योगाभ्यास से मिली मन की शांति अद्भुत है। मैं इसे अपने नियमित अभ्यास में जरूर शामिल करना चाहूंगा। संस्थान के निदेशक प्रो. एल.एस. मूर्ति ने इस अवसर पर शरीर, मन और आत्मा के बीच संतुलन पर जोर देते हुए सभी से स्वस्थ भविष्य के लिए नियमित योगाभ्यास करने की बात कही। सोमा शेखर, एसएओ प्रभारी ने कार्यक्रम के अंत में सभी का आभार माना।

Back To List

खबर और घटनाएँ