पूछे जाने वाले प्रश्न

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (सामान्य प्रश्न)

आगामी बैच के लिए आईआईएम नागपुर का अगला सत्र जून 2018 के आखिरी सप्ताह में शुरू होगा।

पीजीपी में प्रवेश की प्रक्रिया का विवरण www.iimnagpur.ac.in/admission -procedure.php वेबसाइट पर उपलब्ध है।

यह देखा गया है कि कई उम्मीदवार कैट आवेदन में प्रारंभिक चरण में जोखिम कम करने के लिए प्रवेश के लिए बड़ी संख्या में संस्थानों को चिन्हित करते हैं। प्रवेश प्रक्रिया में आगे बढ़ने पर इनमें से कुछ संस्थानों में उनकी रूचि नहीं रह जाती है। आईआईएम नागपुर में प्रवेश प्रक्रिया में अपेक्षाकृत कम समय दिए जाने के कारण संस्थान उम्मीदवारों से अपनी रूचि की पुष्टि चाहता है।

नहीं। प्रत्येक आईआईएम की चयन की प्रक्रिया स्वतंत्र होती है इसलिए किसी अन्य आईआईएम का प्रस्ताव स्वीकारने या अस्वीकारने से आपके आईआईएम नागपुर या दूसरे आईआईएम में प्रवेश के अवसर प्रभावित नहीं होंगे।

हां! मगर सिर्फ तब जब आपने संस्थान की आेर से भेजे गए ईमेल में निरंतर अपनी रूचि की पुष्टि की होगी। ये ईमेल सिर्फ उन्हीं को भेजे जाते है जो वेबसाइट पर दी गई शार्टलिस्ट की कट ऑफ को पूरा करते हैं।

आईआईएम नागपुर में पीजीपी का शुल्क सत्र 2018-20 लगभग 11.50 लाख रुपए (दो वर्ष के लिए) इनमें मेस के लिए जमा राशि आैर सतर्कता राशि शामिल नहीं है। प्रवेश के प्रस्ताव के साथ राशि आैर उनकी किश्तों का विवरण दिया जाएगा।

सरकार के निशानिर्देश के तहत देश के प्रमुख बैंक आईआईएम में प्रवेश के लिए रियायती दर पर शैक्षणिक ऋण प्रदान करते हैं, इसमें आईआईएम नागपुर भी शामिल है।

आईआईएम अहमदाबाद आईआईएम नागपुर की सभी गतिविधियां पर परामर्श देता रहेगा, जब तक आईआईएम नागपुर का अपना स्थाई परिसर में नहीं होता है या अपनी गतिविधियों को पूरी तरह संचालित करने में सक्षम नहीं हो जाता है। दोनों जो भी पहले होता है।

आईआईएम नागपुर में छात्रों को संस्थान के स्थाई संकाय, आईआईएम अहमदाबाद आैर बंगलुरु के संकाय आैर कुछ अतिथि शिक्षक पढ़ाते हैं, जो हमारे वर्तमान मानको को पूरा करते है। आप देश के बेहतरीन संकाय सदस्यों को नागपुर आईआईएम में पढ़ाते देख सकते हैं।

उद्योग जगत आईआईएम नागपूर के स्नातकों को स्वीकारने में अपनी रूचि निरंतर बढ़ा रहा है। आईआईएम नागपुर कई तरीकों से अपने छात्रों को उद्योग जगत आैर अन्य हितधारकों से जुड़ने में मदद कर रहा है। इनमें लाइव प्रोजेक्ट्स, फील्ड इमर्शन, इंटर्नशिप व अन्य प्रोजेक्ट कोर्स शामिल हैं। प्रथम वर्ष के दौरान ही मजबूत फील्ड इमर्शन मापदंड (मॉड्यूल) के तहत छात्रों को कई जमीनी वास्तविकताआें आैर समस्याआें का पता लगाने का अवसर मिलता है। इससे उन्हें कक्षा में पढ़ाई जाने वाली अवधारणाआें आैर केस स्टडी में तारत्मय जोड़ने में मदद मिलती है। हम छात्रों को विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत प्रतिष्ठित संस्थानों में गर्मी छुटि्टयों में लिए विशेष इंटर्नशिप की व्यवस्था करते हैं।

दो चीजें हैं जिन्हें आईआईएमएन के बारे में विशेष कहा जा सकता है। सबसे पहली विशेषता है कि इसका संचालन आईआईएमए द्वारा किया जाता है, इसमें आईआईएमए की तरह कुछ विशिष्टता है, जो सतह पर एक व्यापक श्रेणी में काम कर रही है। आईआईएमए एकमात्र आईआईएम है जो व्यवसाय प्रबंधन संस्थान के बजाय, वास्तव में व्यवसाय प्रबंधन का संस्थान है। इसने कृषि, सामाजिक, दूरसंचार, ई-गवर्नेंस, बुनियादी ढांचा, उद्यमिता और स्वास्थ्य सेवाओं सहित व्यवसाय प्रबंधन के अलावा कई क्षेत्रों में बहुत सारे काम किए हैं। इसलिए, इन क्षेत्रों में से किसी भी क्षेत्र में प्रबंधन ज्ञान में रुचि रखने वाले आवेदकों के लिए आईआईएम नागपुर का पीजीपी एक अच्छी जगह होगी।

दूसरा, आईआईएमएन के पास पहले वर्ष के दौरान ही मजबूत क्षेत्र मॉड्यूल है। यह छात्रों को जमीनी वास्तविकताओं और समस्याओं का पता लगाने की अनुमति देता है, और उन्हें उन अवधारणाओं और मामलों के साथ कनेक्ट करते हैं, जो वे कक्षा में पढ़ते हैं।

प्रवेश प्रस्ताव के साथ सटीक राशि आैर भुगतान की विधि का विवरण भेजा जाएगा। यह राशि लगभग 50,000 रुपए हो सकती है। इस राशि को भविष्य में ट्यूशन फीस के साथ समायोजित कर दिया जाएगा।अगर कोई व्यक्ति वास्तव में संस्थान में प्रवेश नहीं लेता है तो भारत सरकार के दिशानिर्देश के अनुसार अनुशंसित राशि काट कर शेष राशि वापस कर दी जाएगी।

यह एक आवासीय शैक्षणिक कार्यक्रम है इसलिए सभी छात्रों को छात्रावास मे रहने की सुविधा प्रदान की जाएगी। छात्र को पूरी तरह सुसज्जित कमरे में अकेले रहने को मिलेगा।

आप राज्य के अत्याधुनिक, वाईफाई से लैस परिसर में होंगे, जहां ज्ञान डेटाबेस आैर उद्योग जगत तक सहज पहुंच, ई-मेल, इंटरनेट, पुस्तकालय में ईबीएससआे, बिजनेस सोर्स, प्रॉक्वेस्ट ई बुक एसीई नॉलेज पोर्टल, एसीई एक्विटी आैर एमएफ2, गार्डनर, प्रोवेसडक्स, पावरलेस आइक्यू की सुविधा उपलब्ध होगी।